Home विदेश ब्रिटन ने कहा है कि कोविड-19 के प्रसार को सीमित करने के लिए सरकार जल्‍द ही नए सीमा प्रतिबंधों की घोषणा करेगी

ब्रिटन ने कहा है कि कोविड-19 के प्रसार को सीमित करने के लिए सरकार जल्‍द ही नए सीमा प्रतिबंधों की घोषणा करेगी

30 second read
Comments Off on ब्रिटन ने कहा है कि कोविड-19 के प्रसार को सीमित करने के लिए सरकार जल्‍द ही नए सीमा प्रतिबंधों की घोषणा करेगी
0
23

लंदन: कैबिनेट कार्यालय मंत्री माइकल गोव ने मंगलवार को कहा कि जल्‍द ही सीमा सुरक्षा के लिए हम नए प्रस्‍ताव लाएंगे। उन्‍होंने कहा कि इसका मकसद देश को कोरोना वायरस के प्रसार से बचाना है। उन्‍होंने आगे कहा कि देश के नागरिकों के लिए संदेश साफ है कि उन्‍हें दूसरे देशों की यात्रा नहीं करनी चाहिए। उधर, भारत में गणतंत्र दिवस के अवसर पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपनी यात्रा को रद कर दिया है। बोरिस जॉनसन ने कोरोना के नए स्ट्रेन और ब्रिटेन में लगाए गए लॉकडाउन के चलते ये निर्णय लिया है।

इस बीच कोरोना वायरस के नए संस्‍करण ने ब्रिटेन को संकट में डाल दिया है। ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कैबिनेट की आपात बैठक के बाद देश में नए लॉकडाउन का ऐलान किया है। देश में क्रिसमस के बीच कोरोना के नए वेरिएंट के खतरे को देखते हुए देश में दोबारा लॉकडाउन लगाया गया है। मार्च में कोरोना वायरस के प्रसार के बाद ब्रिटिश सरकार ने देश में दोबारा लॉकडाउन के उपबंधों को लागू करने का ऐलान किया है।

जॉनसन ने कैबिनेट बैठक के बाद कहा कि इंग्‍लैंड में कई हफ्ते पूर्व कोरोना के नए वेरिएंट के सबूत मिलने के बाद कठोर उपबंधों को ऐलान किया गया है। ब्रिटेन सरकार के चिकित्‍सा विशेषज्ञों ने कोरोना के नए वेरिएंट के प्रसार पर चिंता व्‍यक्‍त की थी और इसे खतरे की घंटी बताया है। ब्रिटेन में नए वेरिएंट के चलते मौत में 20 फीसद का इजाफा हुआ है।

दुनिया के कई और देशों में कोरोना वायरस का नया स्ट्रेन पहुंच गया है। चीन और स्वीडन में पहले मामलों की पहचान की गई है। अमेरिका के कैलिफोर्निया प्रांत में भी एक केस मिला है। यहां के सैन डिएगो में एक 30 वर्षीय व्यक्ति पीडि़त पाया गया है। इधर, चीनी रोग नियंत्रण केंद्र ने बताया कि ब्रिटेन से शंघाई लौटकर आई 23 साल की एक छात्रा नए स्ट्रेन से संक्रमित पाई गई।

स्वीडन में भी चार मामलों की पहचान की गई है। ब्रिटेन में गत दिसंबर में वायरस का यह नया रूप मिला था। यहां से कई देशों में यह पहुंच चुका है। यह 70 फीसद अधिक संक्रामक बताया जा रहा है। अफ्रीका के कई देशों में यह खतरनाक स्‍वरूप अख्तियार कर चुका है। खासकर दक्षिण अफ्रीका में यह तेजी से फैल रहा है।

Load More By upkibaat
Load More In विदेश
Comments are closed.

Check Also

सम्भल में ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ उपचार को भटकता रहा मरीज़, पढ़ें खबर

रिपोर्ट:सतीश सिंह जहां पूरा देश भयंकर महामारी कोरोना से जूझ रहा है वही संभल जिले से हैरान …