Home उत्तर प्रदेश लखनऊ नगर निगम के बॉन्ड की BSE में हुई लिस्टिंग

लखनऊ नगर निगम के बॉन्ड की BSE में हुई लिस्टिंग

30 second read
Comments Off on लखनऊ नगर निगम के बॉन्ड की BSE में हुई लिस्टिंग
0
15

लखनऊ नगर निगम के बॉन्ड की BSE में हुई लिस्टिंग

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज बीएसई में आज यानी बुधवार 2 दिसंबर 2020 को लखनऊ नगर निगम का बॉन्ड लिस्ट हुआ। उत्‍तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीएसई में बेल बजाकर इसे सूचीबद्ध किया। लखनऊ नगर निगम उत्तर भारत का पहला नगर निगम बन गया है, जिसने बॉन्ड जारी कर पैसा जुटाया है।

लखनऊ नगर निगम इस बांड के जरिए 200 करोड़ रुपये जुटा रहा है। आज जैसे ही सीएम योगी ने इसकी लिस्टिंग के लिए बैल बजाई इस 200 करोड़ रुपये के बांड के लिए करीब 450 करोड़ रुपये की बोलियां मिल गईं। यानी यह करीब 4.5 गुना ज्यादा अभिदान पाने में सफल रहा।

यह 10 साल का बांड और इस पर 8.5 फीसदी सालाना ब्याज दिया जाएगा। बीएइर्स में इससे पहले भी कई नगर निगम अपने बांड लिस्ट करा चुके हैं। यह नगर निगम देश के विभिन्न हिस्सों के हैं। इन नगर निगमों ने 3,690 करोड़ रुपये जुटाए हैं, जिसमें से केवल बीएसई बांड प्लेटफार्म का योगदान 3,175 करोड़ रुपये का है।

बीएसई ने बतया है कि लखनऊ नगर निगम ने बीएसई बॉन्ड प्लेटफॉर्म पर 450 करोड़ रुपये के लिये 21 बोलियां प्राप्त की हैं, जो कि इश्यू के आकार का 4.5 गुना था। बीएसई ने कहा है कि यह उसके मंच पर नगरपालिका बांड जारी करने का लगातार आठवां सफल मामला है।

इससे पता चलता है कि वह नगर निगमों के बीच धन जुटाने का पसंदीदा माध्यम है। बीएसई ने कहा कि अभी तक देश में कुल 11 नगर पालिकाओं ने बॉन्ड जारी किए गए हैं। यह कुल मिलाकर 3,690 करोड़ रुपये के हैं। इनमें से बीएसई बांड प्लेटफार्म का योगदान 3,175 करोड़ रुपये है। इस तरह नगरपालिका बांड बाजार में बीएसई की हिस्सेदारी 86 प्रतिशत पर है।

लखनऊ के निगम आयुक्त अजय कुमार द्विवेदी ने कहा कि हम लखनऊ नगर निगम के पहले बांड इश्यू की सफलता से खुश हैं। नगर आयुक्‍त अजय कुमार द्विवेदी के मुताबिक लखनऊ नगर निगम का यह बॉन्ड बाजार उन्मुख और पूरी तरह से पारदर्शी है। इसके जरिए अब स्थानीय प्रशासन को काम की गति बढ़ाने में मदद मिलेगी।

उनका कहना है कि राज्य सरकार अब राज्य के अन्य स्थानीय निकायों को भी प्रोत्साहित करने की तैयारी कर रही है। उनका कहना है कि ऐसा अनुमान है कि आने वाले महीनों में गाजियाबाद, वाराणसी, आगरा और कानपुर के नगर निगम भी बॉन्ड जारी कर सकते हैं।

Load More By RNI Hindi Desk
Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.

Check Also

यूपी : धोखाधड़ी के आरोप में मंत्री कपिलदेव अग्रवाल के भाई के खिलाफ लखनऊ में केस दर्ज

यूपी : धोखाधड़ी के आरोप में मंत्री कपिलदेव अग्रवाल के भाई के खिलाफ लखनऊ में केस दर्ज योगी …