Home उत्तर प्रदेश फर्रुखाबाद: जिलाधिकार ने रैपिड रिस्पांस टीम के साथ की समीक्षा बैठक

फर्रुखाबाद: जिलाधिकार ने रैपिड रिस्पांस टीम के साथ की समीक्षा बैठक

30 second read
Comments Off on फर्रुखाबाद: जिलाधिकार ने रैपिड रिस्पांस टीम के साथ की समीक्षा बैठक
0
11

{ फर्रुखाबाद से सतीश गुप्ता की रिपोर्ट }

फर्रुखाबाद के जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह ने कोरोना वायरस पर प्रभावी नियन्त्रण हेतु गठित ”रैपिड रेस्पॉन्स टीम” के साथ कलेक्ट्रेट सभागार में एक समीक्षा बैठक आयोजित की गई।

बैठक के दौरान जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह द्वारा जानकारी देते हुए बताया कि अभी तक 14 टीमों द्वारा जनपद में बाहर से लोटे हुए 461 व्यक्यिों की स्क्रीनिंग की गई है। स्क्रीनिंग में अभी तक कोई भी व्यक्ति संदिग्ध नहीं पाया गया है।

परन्तु अभी भी बाहर से आए व्यक्तियों द्वारा हॉम कोरेनटाइन में सहयोग नहीं किया जा रहा है।
जिलाधिकारी ने बाहर से लोटे व्यक्तियों एवं ग्राम प्रधान द्वारा हॉम कोरेनटाइन प्रोटोकॉल में सहयोग न करने की दशा में तत्काल प्रभाव से गम्भीर धाराओं में एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी ने 14 रैपिड रेस्पॉन्स टीमों को मिशनरी लक्ष्य में कार्य करने के निर्देश दिए। बैठक के दौरान पूर्व सांसद चन्द्र भूषण सिंह मुन्नू बाबू ने नोवाल कोरोना वायरस से निपटने व गरीबों की सहायता के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष में जमा करने हेतु एक लाख रुपये की चेक जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह को प्रदान की।

बैठक के दौरान रखा इण्टर कालेज फतेहगढ की प्रधानाचार्या डाॅ नीतू मसीह द्वारा गरीबों को वितरित करने हेतु एक हजार मास्क जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह को उपलब्ध कराये गये।

बैठक के दौरान जिलाधिकारी मानवेन्द्र सिंह,मुख्य विकास अधिकारी डाॅ राजेन्द्र पेंसिया,अपर जिलाधिकारी विवेक श्रीवास्तव,नगर मजिस्ट्रेट अशोक कुमार मौर्य, परियोजना निदेशक राजमणि वर्मा, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ चन्द्र शेखर।

कायमगंज के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अमित आसेरी,एसडीएम सदर अनिल कुमार, एएसडीएम सुनील कुमार यादव सहित सभी उपजिलाधिकारी एवं कायमगंज के खण्ड विकास अधिकारी श्री प्रकाश उपाध्याय सहित सभी खण्ड विकास अधिकारी आदि मौजूद रहे।

Load More By upkibaat
Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.

Check Also

बीजेपी सांसद धर्मेन्द्र कश्यप की पत्नी कोरोना संक्रमित, फेसबुक पर पोस्ट कर दी जानकारी

दिल्ली ने बुधवार को COVID-19 के 17,000 से अधिक मामले दर्ज किए, जो देश की सबसे बुरी तरह से …