Home उत्तर प्रदेश फर्रुखाबाद: ज्वाइंट मजिस्ट्रेट व सीओ ने परिवारों को प्रदान की खाद्य सामग्री

फर्रुखाबाद: ज्वाइंट मजिस्ट्रेट व सीओ ने परिवारों को प्रदान की खाद्य सामग्री

1 second read
Comments Off on फर्रुखाबाद: ज्वाइंट मजिस्ट्रेट व सीओ ने परिवारों को प्रदान की खाद्य सामग्री
0
18

{ फर्रुखाबाद से सतीश गुप्ता की रिपोर्ट }

फर्रुखाबाद जनपद के कायमगंज के ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अमित आसेरी,तहसीलदार भूपाल सिंह व सीओ राजवीर सिंह गौर ने लाॅक डाउन के पांचवें दिवस नगर के विभिन्न स्थानों पर रह रहे आधा सैकड़ा से अधिक लोहा पीटा परिवारों को कायमगंज की प्रमुख समाजसेवी संस्था जेसीआई कायमगंज ग्रेटर द्वारा उपलब्ध कराये गये खाद्य सामग्री के पैकेट प्रदान किए गये।

खाद्य सामग्री उपलब्ध कराने वाली संस्था जेसीआई कायमगंज ग्रेटर के संरक्षक प्रमुख उद्योग पति व समाज सेवी जेसी लक्ष्मी नरायन अग्रवाल ने बताया कि वितरित किए गए खाद्य सामग्री के पैकेट में 10 किलो आटा, 5 किलो चावल, एक किलो दाल,5 पैकेट सी पी मसाले,एक लीटर सरसों के तेल,एक किलो नमक आदि खाद्य सामग्री की व्यवस्था की गई है।

उन्होंने बताया कि लाॅक डाउन के दौरान गरीबों को वितरित करने हेतु अभी तो जेसीआई कायमगंज ग्रेटर द्वारा खाद्य सामग्री के लगभग 250 पैकेट तैयार किए गये हैं।यह क्रम आगे भी जारी रहेगा। वहीं ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अमित आसेरी ने कहा कि कोविड-19 कोरोना वायरस लाॅक डाउन के समय में गरीब व जरूरतमंदो की हर समस्या का पूर्णतः निदान किया जाएगा।

कायमगंज में प्रशासन द्वारा आईएमए के पदाधिकारियों व चिकित्सकों के सहयोग से लक्ष्मी यदुनन्दन महाविद्यालय में मरीजों को चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध कराने हेतु बनाये गये स्पेशल फ्लू कैम्प के दौरान बारी-बारी से कैम्प में मरीजों को चिकित्सीय सुविधा उपलब्ध कराने वाले निजी चिकित्सकों द्वारा परामर्श शुल्क के रूप में मरीजों से एकत्र की गई 51हजार धनराशि का ड्राफ्ट प्रधानमंत्री राहत कोष में भेजने हेतु ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अमित आसेरी को उपलब्ध कराया।

वहीं ज्वाइंट मजिस्ट्रेट अमित आसेरी ने नगर व क्षेत्र के सभी समाज सेवियो से अनुरोध करते हुए कहा कि जो भी समाज सेवी इस संकट की घड़ी में गरीब व ज़रूरतमंदों को खाद्य सामग्री आदि प्रदान कर राहत पहुंचाना चाहते हैं।

प्रशासन को साथ लेकर ही खाद्य सामग्री गरीबों व ज़रूरतमंदों को प्रदान करें।जिससे हर गरीब व जरूरतमंद को खाद्य सामग्री मिल सके। क्योंकि खाद्य सामग्री प्रदान करते समय प्रशासन के कर्मचारियों द्वारा खाद्य सामग्री पाने वाले परिवारों की विधिवत सूची तैयार की जा रही है।इसलिए विना प्रशासन के साथ गरीबों व ज़रूरतमंदों को स्वयं सीधे खाद्य सामग्री प्रदान न करें।

Load More By upkibaat
Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.

Check Also

एनजीटी की कार्रवाई से ग्रामीणों मे खुशी की लहर, स्वच्छ पानी पीने से खुशहाल

कानपुर देहात से विपिन कुमार कोहली की रिपोर्ट उत्तर प्रदेश: कानपुर देहात में बीते बरसों से …