Home उत्तर प्रदेश मेरठ: एक दिन की थानेदार बनी कक्षा 10 की छात्रा

मेरठ: एक दिन की थानेदार बनी कक्षा 10 की छात्रा

31 second read
Comments Off on मेरठ: एक दिन की थानेदार बनी कक्षा 10 की छात्रा
0
18

मेरठ: अंतर्राष्ट्रीय बाल दिवस के मौके पर जसवंत राय इंटर कालेज मलियाना की पढ़ने वाली कक्षा 10 की छात्रा रानी एक दिन की थानेदार बनी और उसने पीड़ितों की समस्याएं सुनकर उनका निस्तारण किया। अनिल कपूर की फिल्म नायक तो देखी होगी। जिसमे एक टीवी रिपोर्टर एक दिन के लिये मुख्यमंत्री बनाया जाता है कुछ इसी तरह मेरठ महानगर में हुआ है।

यहां एक दसवीं की छात्रा को एक दिन के लिये थानेदार बना दिया गया है। वह भी किसी ग्रामीण क्षेत्र के थाने का नहीं बल्कि सबसे पॉश इलाके के थाने ​ट्रांसपोर्ट नगर का। इस छात्रा का नाम रानी है। जो आज बतौर थानेदार अपनी ड्यूटी निभा रही हैं। आज अंतराष्ट्रीय दिवस के मौके पर थाना टीपी नगर के थानेदार विजय गुप्ता ने यह प्रयोग किया। उन्होंने दसवीं की छात्रा को एक दिन का थानेदार बनने का मौका दिया।

रानी सुबह थाना टीपी नगर पहुंची और फिर वह सारी प्रक्रिया शुरू हुई जैसे एक थानेदार की आमद कराई जाती है। यानी की जिस तरह से पुलिस कर्मी की तैनाती होती है।रानी ने बाकायदा लिखा-पढ़ी के साथ अपना प्रभार लिया। स्टाफ ने बुके देकर स्वागत किया तो सलामी देकर औपचारिक स्वागत भी किया गया। यहां से रानी का एक्शन शुरू हुआ। तत्काल मातहत पुलिस कर्मियों के साथ बैठक की और पुलिस की कार्यप्रणाली से लेकर समस्याओं पर बात की। बैठक खत्म होते ही प्रतिदिन थाने आने वाले फरियादियों की रानी ने शिकायत सुनी।

इसके बाद थाने के बंदीगृह मालखाना से लेकर लिखा-पढ़ी करने के तौर तरीके को जाना। थाने का निरीक्षण करने के साथ रजिस्टर के पन्ने पलट सवाल भी किये।इसके बाद रानी पुलिस ​कर्मियों के साथ वाहन चेकिंग पर निकली। जिसमें उन्होंने वाहन चालको को यातायात का पाठ पढाया।

Load More By upkibaat
Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.

Check Also

बीजेपी सांसद धर्मेन्द्र कश्यप की पत्नी कोरोना संक्रमित, फेसबुक पर पोस्ट कर दी जानकारी

दिल्ली ने बुधवार को COVID-19 के 17,000 से अधिक मामले दर्ज किए, जो देश की सबसे बुरी तरह से …