Home विदेश कोरोना का खतरनाक नया संस्‍करण दुनिया में तेजी से पांव पसार रहा है, WHO का दावा है कि दुनिया के 41 देशों में दस्‍तक दे चुका है

कोरोना का खतरनाक नया संस्‍करण दुनिया में तेजी से पांव पसार रहा है, WHO का दावा है कि दुनिया के 41 देशों में दस्‍तक दे चुका है

5 second read
Comments Off on कोरोना का खतरनाक नया संस्‍करण दुनिया में तेजी से पांव पसार रहा है, WHO का दावा है कि दुनिया के 41 देशों में दस्‍तक दे चुका है
0
22

लंदन:  ब्रिटेन में मिला कोरोना वायरस का खतरनाक नया संस्‍करण दुनिया में तेजी से पांव पसार रहा है। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन का दावा है कि यह अब तक दुनिया के 41 देशों में दस्‍तक दे चुका है। बता दें कि 14 दिसंबर को ब्रिटेन सरकार ने घोषणा की थी कि देश में एक नए कोरोना वायरस ने दस्‍तक दिया है। महज चार सप्‍ताह में इस वेरिएंट ने 41 देशों में अपना पांव पसार चुका है। इस खबर के बाद कई मुल्‍कों ने ब्रिटेन की यात्रा को स्‍थगित कर दिया है। आइए जानते हैं कि आखिर ब्रिटेन ने इसके रोकथाम के लिए क्‍या कदम उठाए हैं। नए वेरिएंट को रोकने के लिए दुनिया के अन्‍य मुल्‍कों ने एहतियात के तौर पर क्‍या कदम उठाए हैं।

नए वेरिएंट की रोकथाम के लिए उठे बड़े कदम

1- भारत ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन को मुख्य अतिथि बनाया था। वहीं, अब प्रधानमंत्री जॉनसन ने अपनी भारत यात्रा को रद कर दिया है। भारत दौरा रद करने से पहले जॉनसन ने पीएम मोदी से फोन पर बात की है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर भारत न आने पर उन्होंने पीएम मोदी से खेद भी जताया है। बोरिस जॉनसन ने कोरोना के नए स्ट्रेन और ब्रिटेन में लगाए गए लॉकडाउन के चलते ये निर्णय लिया है।

2-  ब्रिटेन ने कहा है कि कोविड-19 के प्रसार को सीमित करने के लिए सरकार जल्‍द ही नए सीमा प्रतिबंधों की घोषणा करेगी। कैबिनेट कार्यालय मंत्री माइकल गोव ने मंगलवार को कहा कि जल्‍द ही सीमा सुरक्षा के लिए हम नए प्रस्‍ताव लाएंगे। उन्‍होंने कहा कि इसका मकसद देश को कोरोना वायरस के प्रसार से बचाना है। उन्‍होंने आगे कहा कि देश के नागरिकों के लिए संदेश साफ है कि उन्‍हें दूसरे देशों की यात्रा नहीं करनी चाहिए।

3- ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कोरोना संक्रमण के नए स्ट्रेन के बढ़ते संकट के बीच फिर से देश में लॉकडाउन का ऐलान किया है। बोरिस जॉनसन ने कहा कि कोरोना से निपटने के लिए कम से कम फरवरी के मध्य तक नया नेशनल लॉकडाउन लगाया है, ताकि नए स्ट्रेन को रोका जा सके। एक तरफ ब्रिटेन में कोरोना की वैक्सीन लगाने का काम शुरू किया गया है तो दूसरी तरफ लॉकडाउन का ऐलान किया गया है। ब्रिटेन सरकार के चिकित्‍सा विशेषज्ञों ने कोरोना के नए वेरिएंट के प्रसार पर चिंता व्‍यक्‍त की थी और इसे खतरे की घंटी बताया है।

4- प्रधानमंत्री जॉनसन ने कहा है कि वायरस ने अपने हमले का तरीका बदल दिया है, ऐसे में हमें भी सजग हो जाना चाहिए। देश के लिए यह कठिन समय है। प्रधानमंत्री ने कहा है कि लॉकडाउन के दौरान लोगों को घरों में ही रहना होगा और सिर्फ जरूरी काम से ही निकलने की इजाजत दी जाएगी। मसलन आवश्यक सामान लाने के लिए लोग घरों से निकल सकते हैं, अगर घर से काम नहीं कर पा रहे हैं तो दफ्तर जा सकते हैं। सभी गैर-जरूरी दुकानें और हेयरड्रेसर जैसी पर्सनल केयर सर्विस बंद रहेंगे।

नए वेरिएंट की तीन प्रमुख बातें दुनिया को चिंतित कर रही हैं। यह बहुत जल्‍दी कोरोना वायरस के अन्‍य रूपों की जगह ले रहा है। इसके म्‍यूटेशन से वायरस के उन हिस्‍सों में बदलाव हुआ है, जो मानव कोशिकाओं पर सीधे असर डालने में सक्षम हैं। इसमें N501Y नाम का म्‍यूटेशन हुआ है, जो शरीर की कोशिकाओं को प्रभावित करता है। शोध से यह बात सामने आई है कि कुछ म्‍यूटेशन की वजह से वायरस की इंसानी कोशिकाओं को संक्रमित करने की क्षमता बढ़ जाती है।

Load More By upkibaat
Load More In विदेश
Comments are closed.

Check Also

सीएम योगी आदित्यनाथ कोरोना संक्रमित, बोले- वर्चुअली कर रहा हूं काम

लखनऊ: सीएम योगी आदित्यनाथ ने लखनऊ में विधानसभा के राज्य बजट 2020-21 की प्रस्तुति के बाद सं…