Home उत्तर प्रदेश आजमगढ़ में फिर तड़तड़ाई गोलियां, BDC सदस्य की गोली मारकर हत्या

आजमगढ़ में फिर तड़तड़ाई गोलियां, BDC सदस्य की गोली मारकर हत्या

1 second read
Comments Off on आजमगढ़ में फिर तड़तड़ाई गोलियां, BDC सदस्य की गोली मारकर हत्या
0
7

पूर्वीं यूपी यानी पूर्वांचल में अपराधियों का दुस्साहस लगातार बढ़ रहा है। सोमवार की रात एक तरफ बलिया में निजी चैनल के पत्रकार की गोली मारकर हत्या कर दी गई तो दूसरी तरफ आजमगढ़ में निजामाबाद के नवादा में एक बीडीसी सदस्य को गोली मारकर मौत के घाट उतार दिया गया है। आजमगढ़ के तरवां में ही पिछले हफ्ते दलित प्रधान की गोली मारकर हत्या का मामला अभी ठंडा भी नहीं पड़ा है। उसे लेकर लगातार आंदोलन हो रहे हैं।

सोमवार रात 9 बजे नवादा बाजार में पंचायत चुनाव के संबंध में दो ग्रुप आपस में चर्चा कर रहे थे। इस बीच विवाद बढ़ गया। विवाद के बीच ही नवादा के क्षेत्र पंचायत सदस्य 35 वर्षीय सुरेंद्र यादव को गोली मार दी गई। आनन-फानन लोग सुरेंद्र को उठाकर सदर अस्पताल लेकर भागे।

अस्पताल पहुंचने से पहले ही सुरेंद्र ने दम तोड़ दिया। वारदात होते ही बाजार में सन्नाटा पसर गया। मौत की खबर गांव पहुंची तो कोहराम मच गया। लोगों का हंगामा शुरू हो गया। विरोधी गुट के घर पर हमले की आशंका में भारी संख्या में फोर्स तैनात कर दी गई। कई थाने की पुलिस वाहन आधे घंटे के अंदर पहुंच गई।

आठ नामजद, आधा दर्जन महिलाएं समेत एक दर्जन हिरासत में
बीडीसी की हत्या के मामले में पुलिस ने आठ लोगों के विरुद्ध नामजद मुकदमा पंजीकृत  किया है। पुलिस रात में ही आधा दर्जन महिलाओं को हिरासत में लेकर थाने ले गयी। नेवादा बाजार छावनी में तब्दील है। भारी पुलिस बल तैनात है। पुलिस ने मृतक सुरेन्द्र यादव के बहन के लड़के शुभम यादव की तहरीर पर बकिया बड़ हरिया गांव निवासी मनोज सिंह, अमरजीत सिंह, राहुल सिंह, अमित यादव, गगन यादव, गोल्डी यादव, शालू सिंह, संजय सिंह के विरुद्ध मुकदमा दर्ज किया है।

सोमवार की रात सुरेन्द्र यादव उर्फ नाटे नंदपुर गांव में तेरही में हिस्सा लेने गए थे।वहां से लौट कर लगभग 9 बजे नेवादा चौराहे पर पहले से मौजूद नामजद 8 लोग उन्हे रोक लिए। आपस मे बातचीत कुछ गर्म अंदाज में होने लगी। पहले हाथापाई हुई फिर एक पिस्टल निकाल कर फायर करने लगा। तीन राउंड फायर करने पर बाज़ार में अफरा तफरी मच गई। इस बीच तीसरा फायर सुरेंद्र के सीने में लग गया। वह तुरंत गिर गया। हमलावर वहीं खड़े रहे। इस बीच ग्रामीणों की भीड़ बढ़ता देख एक हमलावर बाइक से भाग गया। बाकी सभी अपनी दो बुलेट,एक शाइन बाइक छोड़कर भाग गए।

ग्रामीणों ने तीनों बाइक को आग के हवाले कर दिया। तब तक घर खबर पहुंच गई। ग्रामीणों ने उसे सदर के लिए भेज दिया। लेकिन उसने रास्ते मे दम तोड़ दिया। आक्रोशित ग्रामीणों ने नामजद अभियुक्तों के गांव बकिया बढडिया की ओर बढ़ने लगे। तनाव बढ़ता गया।पुलिस मौके पर पहुंच गई। डीआईजी सुभाष चंद दुबे, एसपी सुधीर सिंह समेत कई थानों की फोर्स वहां पहुंच गई।पुलिस ने नामजद अभियुक्तों के घर दबिश देकर 6 महिलाओं को थाने ले आई। वही 6 पुरुषों को भी हिरासत में लिया है। डीआईजी ने कहा है कि अभियुक्तों पर गैंगस्टर एनएसए समेत अन्य कठोरतम धारा में कार्रवाई की जाएगी। 6 टीम लगी है जल्द गिरफ्तारी हो जाएगी।

ज़मीन और पंचायत चुनाव एंगल पर जांच

ग्रामीणों की मानें तो नेवादा चौराहे पर एक ज़मीन को लेकर विवाद चल रहा था। सुरेंद्र के चाचा ने ज़मीन खरीदी थी। अभियुक्तों से इसे लेकर विवाद था। वहीं सुरेंद्र पिछले पंचायत चुनाव में क्षेत्र पंचायत सदस्य का चुनाव रिकॉर्ड मतों से विजई हुआ था । इस बार उसने प्रधानी लड़ने की घोषणा कर दी थी। वहीं दूसरी ओर बताया जाता है कि नामजद अभियुक्तों के पक्ष का भी कोई चुनाव लड़ने की मंशा रखता है पुलिस इस एंगल पर भी जांच में जुटी है।

 

Load More By upkibaat
Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.

Check Also

बदमाश ने पिस्टल से ताबड़तोड़ की छह राउंड फायरिंग, प्रत्याशी समेत तीन लोग गंभीर

गोरखपुरः गोरखपुर में चुनावी रंजिश में होने वाली घटनाएं रुकने का नाम ही नहीं ले रही हैं। एक…