Home उत्तर प्रदेश वाराणसी: मजदूर है साहब इसलिए मजबूर है ,जान हथेली पर रखकर निकल पड़े श्रमिक

वाराणसी: मजदूर है साहब इसलिए मजबूर है ,जान हथेली पर रखकर निकल पड़े श्रमिक

31 second read
Comments Off on वाराणसी: मजदूर है साहब इसलिए मजबूर है ,जान हथेली पर रखकर निकल पड़े श्रमिक
0
12

{ मदन मोहन की रिपोर्ट }

जान हथेली पर रखकर श्रमिक अपने घर की ओर निकल पड़े हैं।

कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए लगाए गए लॉक डाउन में सबसे ज्यादा समस्या मजदूरों को हो रही है हालांकि सरकार मजदूरों की सहायता के लिए हर संभव मदद करते हुए अपील भी कर रही है कि

जो जहाँ है वही रहे सरकार की ओर से सभी को अपने घर पहुँचा दिया जाएगा लेकिन बाहर से आये मजदूरों ने बताया कि दूसरे राज्यो में उनको किसी भी प्रकार से कोई सहायता नही दिया जा रहा है जिसके कारण वो पलायन करने को मजबूर है।

वाराणसी शहर की ओर जाने वाला एनएच-2 पर स्थित मोहनसराय इलाका पूरी तरह बाहर से आये प्रवासी मजदूरों से पटा पड़ा है जहां से स्थानीय प्रशासन की मदद से रोडवेज बसों के जरिये उनको अपने गृह जनपद भेजा जा रहा है ।

Load More By upkibaat
Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.

Check Also

सम्भल में ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ उपचार को भटकता रहा मरीज़, पढ़ें खबर

रिपोर्ट:सतीश सिंह जहां पूरा देश भयंकर महामारी कोरोना से जूझ रहा है वही संभल जिले से हैरान …