Home उत्तर प्रदेश गंगा नदी में प्रदूषण फैलाने वाले लोगों और उद्योगों के खिलाफ यूपी की योगी सरकार सख्त

गंगा नदी में प्रदूषण फैलाने वाले लोगों और उद्योगों के खिलाफ यूपी की योगी सरकार सख्त

30 second read
Comments Off on गंगा नदी में प्रदूषण फैलाने वाले लोगों और उद्योगों के खिलाफ यूपी की योगी सरकार सख्त
0
27

गंगा नदी में प्रदूषण फैलाने वाले लोगों और उद्योगों के खिलाफ यूपी की योगी सरकार सख्त

गंगा नदी में प्रदूषण फैलाने वाले लोगों और उद्योगों के खिलाफ यूपी की योगी सरकार सख्त हो गई है। योगी सरकार ने ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई शुरू कर दी है।

पवित्र नदी को प्रदूषित करने वाले लोगों के खिलाफ एक्शन लेते हुए नमामि गंगे विभाग ने सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट एसटीपी चलाने के लिए वाराणसी की एक कंपनी पर 3 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया है। नमामि गंगे विभाग की टीमें प्रदेश के करीब दर्जन भर एसटीपी पर छापेमारी कर मानक और गुणवत्‍ता की जांच कर रही हैं।

नमामि गंगे की टीमें राज्य भर में कम से कम 12 स्थानों पर छापे मार रही हैं और एसटीपी के मापदंडों और गुणवत्ता की जांच कर रही हैं।

क्लीन एंड फ्लोइंग गंगा मिशन पर काम को सुनिश्चित करने के लिए, योगी सरकार ने सरकारी और निजी दोनों प्रकार के एसटीपी के मापदंडों और गुणवत्ता की निगरानी और जाँच की है। कुल नौ टीमें गठित कर औचक निरीक्षण और सीवेज निस्‍तारण की जांच की जा रही है।

नमामि गंगे की टीमें राज्य भर में कम से कम 12 स्थानों पर छापे मार रही हैं और एसटीपी के मापदंडों और गुणवत्ता की जांच कर रही हैं। क्लीन एंड फ्लोइंग गंगा मिशन पर काम को सुनिश्चित करने के लिए, योगी सरकार ने सरकारी और निजी दोनों प्रकार के एसटीपी के मापदंडों और गुणवत्ता की निगरानी और जाँच की है। कुल नौ टीमें गठित कर औचक निरीक्षण और सीवेज निस्‍तारण की जांच की जा रही है।

प्रमुख सचिव नमामि गंगे के निर्देश पर प्रदेश भर में चल रही जांच में पहली कार्रवाई शनिवार को वाराणसी में हुई है। वाराणसी में रमना एसटीपी को जांच के दौरान तय मानक पर नहीं पाया गया है। सीवेज निस्‍तारण की गुणवत्‍ता के मामले में भी रमना एसटीपी औसत से कम पाई गई है।

सी‍वेज निस्‍तारण की प्रक्रिया की पूरी जांच के बाद नमामि गंगे विभाग ने रमना एसटीपी की संचालक कंपनी पर 3 करोड़ रुपये का बड़ा जुर्माना लगाया है। सीवेज निस्‍तारण में लापरवाही पर यह अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई है।

यह अभियान राज्य के कई अन्य स्थानों पर चल रहा है। उत्तर प्रदेश में 104 ऑपरेशनल एसटीपी हैं, जिनमें से 44 एसटीपी नमामि गंगे के दायरे में हैं। ध्यान देने वाली बात है कि, योगी सरकार गंगा की स्‍वच्‍छता को लेकर लगातार जागरूकता अभियान चला रही है।

गंगा घाटों की स्‍वच्‍छता से लेकर गंगा में गिरने वाले नालों को रोकने के साथ ही बड़े स्‍तर पर नए एसटीपी भी बनाए जा रहे हैं। मुख सचिव नमामि गंगे अनुराग श्रीवास्‍तव ने बताया कि अविरल गंगा,निर्मल गंगा राज्‍य सरकार का संकल्‍प है। हम उसी दिशा में आगे बढ़ रहे हैं। गंगा में गंदगी और प्रदूषण की मात्रा शून्‍य होने तक हर स्‍तर पर जांच की जाएगी और एक्शन लिया जाएगा।

Load More By upkibaat
Load More In उत्तर प्रदेश
Comments are closed.

Check Also

सम्भल में ऑक्सीजन सिलेंडर के साथ उपचार को भटकता रहा मरीज़, पढ़ें खबर

रिपोर्ट:सतीश सिंह जहां पूरा देश भयंकर महामारी कोरोना से जूझ रहा है वही संभल जिले से हैरान …